‘हनुमान’ पौराणिक कथाओं से प्रेरित लेकिन आधुनिक समय में स्थापित फिल्म है…?

Views: 520
0 0
Read Time:7 Minute, 54 Second

लंबे वक्त से पौराणिक कथाओं पर आधारित सिनेमा और सीरियल का निर्माण हो रहा है। पहले इसे धार्मिक फिल्म या टीवी सीरियल के रूप में पेश किया गया। ‘रामायण’, ‘महाभारत’ और ‘श्रीकृष्णा’ जैसे कई सीरियल टीवी पर प्रसारित किए गए। ‘संपूर्ण रामायण’ (1961), ‘महाभारत’ (1965), ‘जय संतोषी मां’ (1975), ‘करवा चौथ’ (1980) और ‘महाबली हनुमान’ (1981) जैसी फिल्मों का निर्माण हुआ. इन फिल्मों की कहानी आस्था से जुड़ी होने की वजह से लोगों ने खूब पसंद किया। समय के साथ फिल्म निर्माण की तकनीक बदलती गई।

फिल्मों में धीरे-धीरे वीएफएक्स और स्पेशल विजुअल इफेक्ट्स का इस्तेमाल शुरू हो गया। इसके साथ माइथोलॉजिकल फिल्मों की कहानियों ने भी नया स्वरूप ले लिया। नई फिल्मों की कहानी पौराणिक कथाओं से प्रेरित होते हुए भी वर्तमान पृष्ठभूमि में बुनी जाने लगीं। ‘रामसेतु’, ‘ब्रह्मास्त्र’, ‘आदिपुरुष’, ‘सूर्यपुत्र महावीर कर्ण’, ‘द्रौपदी’, ‘द इनकार्नेशन सीता’, ‘अपराजित अयोध्या’ जैसी फिल्में इसकी प्रमुख उदाहरण हैं। इसी कड़ी में एक नई फिल्म ‘हनुमान’ रिलीज होने जा रही है। इसका बेहतरीन टीजर आज रिलीज कर दिया गया है।

प्रशांत वर्मा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘हनुमान’ का टीजर देखने में अद्भुत लग रहा है। इसमें तेलुगू अभिनेता तेजा सज्जा ने लीड रोल किया है। उनके साथ अभिनेत्री अमृता अय्यर, वरलक्ष्मी सरथकुमार, अभिनेता राज दीपल शेट्टी, विनय राय और सत्या जैसे सितारे भी दमदार किरदारों में नजर आ रहे हैं। फिल्म के मेकर्स का दावा है कि ‘हनुमान’ अंजनाद्री की दुनिया में स्थापित पहली बहुभाषी सुपरहीरो फिल्म है। इसके साथ इंडियन माइथोवर्स फ्रेंचाइजी की शुरुआत की जा रही है। ये फिल्म साल 2023 में रिलीज की जाएगी।

आरकेडी स्टूडियोज के बैनर तले बन रही फिल्म ‘हनुमान’ की कहानी निर्देशक प्रशांत वर्मा ने ही लिखी है। मूल रूप से तेलुगू में बन रही इस फिल्म को तमिल, तेलुगू, हिंदी, कन्नड़ और मलयालम में पैन इंडिया रिलीज किया जाएगा। इसकी पहली झलक ने बता दिया है कि फिल्म शानदार होने वाली है। क्योंकि इसमें वीएफएक्स और स्पेशल विजुअल इफेक्ट्स का इस्तेमाल इतनी सफाई से किया गया है कि सबकुछ सजीव नजर आ रहा है। आधुनिक तकनीक के जरिए कम पैसे में इसके मेकर्स एक बेहतरीन फिल्म बना रहे हैं।

फिल्म की कहानी अंजनाद्री गांव में स्थापित है। वैसे जानकारी के लिए बता दें कि हनुमान जी का जन्म अंजनाद्री पहाड़ियों पर हुआ था, जो कि वर्तमान में कर्नाटक में है। इसके पीछे एक छोटी सी कहानी है। कहा जाता है कि हनुमानजी की माता जी अंजनी देवी, गौतम ऋषि और अहिल्या की बेटी थीं। गौतम ऋषि ने अपनी बेटी को एक कपिराज को दे दिया था। कुछ दिनों बाद अंजनी ने केसरी से शादी कर ली। इसके बाद ये दंपती अंजनाद्री पहाड़ी पर चले गए। वहां अंजनी ने बच्चे के लिए भगवान शिव का आशीर्वाद पाने के लिए तपस्या की थी, जिसके बाद भगवान शिव के आशीर्वाद से अंजनी ने अंजनाद्री की पहाड़ियों पर हनुमानजी को जन्म दिया था। इन्हीं पहाड़ियों पर हनुमानजी का बचपन गुजरा था।

फिल्म ‘हनुमान’ के 1 मिनट 41 सेकेंड के टीजर की शुरूआत राम नाम की ध्वनि के साथ होती है। इसके वॉयस ओवर में कहा जाता है, ”अथांग महासागर के गर्भ में, तीनों लोक में सबसे बलशाली, महावीर हनुमान का रक्त रतन, सहस्त्र वर्षों से प्रतीक्षा में है। ” फिर अभिनेता तेजा सज्जा, अभिनेत्री अमृता अय्यर और राज दीपल शेट्टी के किरदारों से परिचय कराया जाता है। फिल्म के टीजर में हनुमान चालीसा की गूंज के बीच जबरदस्त धांसू एक्शन दिखाया गया है। फिल्म की पहली झलक में पौराणिकता और आधुनिकता का अद्भुत संगम देखने को मिल रहा है।

फिल्म का सबसे मजबूत पक्ष इसका तकनीक है। वीएफक्स का इस्तेमाल इतने बेहतरीन तरीके से किया गया है, जिसे देखने के बाद लोग खुश नजर आ रहे हैं। यहां तक कि लोग इसकी तुलना मेगा बजट फिल्म ‘आदिपुरुष’ से भी करने लगे हैं। 550 करोड़ रुपए में बन रही ‘आदिपुरुष’ का टीजर देखने के बाद लोगों ने बहुत बुराई की थी। यहां तक कि इसे एनिमेटेड फिल्म तक करार दे दिया था। जबकि फिल्म ‘हनुमान’ का बजट महज 17 करोड़ रुपए है. इतने कम बजट में ऐसी तकनीक का इस्तेमाल फिल्म को लीक से अलग करता है।

फिल्म के लेखक और निर्देशक प्रशांत वर्मा का कहना है, “यदि आप मेरी पिछली फिल्म देखेंगे तो भी आपको कुछ पौराणिक संदर्भ जरूर मिल जाएंगे। हम पहली बार पौराणिक चरित्र हनुमान पर एक पूरी फिल्म कर रहे हैं। यह अपने तरह का अनूठा और पहला प्रोजेक्ट है। हम बहुत सारे किरदारों के साथ प्रशांत वर्मा सिनेमैटिक यूनिवर्स बना रहे हैं। हम पहले ही अधीरा नाम की एक फिल्म की घोषणा कर चुके हैं। मैं एक महिला केंद्रित सुपरहीरो फिल्म की भी योजPraना बना रहा हूं। ये सभी फिल्में हमारी पौराणिक कथाओं से प्रेरित होंगी, लेकिन इन्हें आधुनिक समय में स्थापित किया जाएगा। ऐसी फिल्मों से काफी उम्मीदें होंगी। ये सिर्फ एक अखिल भारतीय फिल्म नहीं है बल्कि एक अखिल विश्व फिल्म साबित होगी। हम इसके जरिए जबरदस्त प्रभाव पैदा करने वाले हैं। ”

बेहतरीन फिल्मे और वेबसेरिस को देखने के लिए भारत का पहला वर्चुअल सिनेमा दिव्या दृष्टि प्लेयर डाउनलोड करे। और बेहतरीन फिल्म और वेबसेरिस का घर बैठे अपने परिवार के साथ आनंद उठाए । दिए हुए लिंक पर क्लिक करे

https://play.google.com/store/apps/details?id=net.digital.divyadrishtiplayer

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Scroll to Top