तापसी पन्नू की नई फिल्म का रोमांचक ट्रेलर सस्पेंस से भरा है..!

Views: 642
0 0
Read Time:8 Minute, 48 Second

कई बार कुछ अभिनेता एक खास कैटेगरी की फिल्मों में लगातार काम करके अपनी एक छवि बना लेते हैं। लोगों को उस कैटेगरी की फिल्मों में वो कलाकार ही अच्छे लगने लगते हैं। जैसे कि राष्ट्रवादी विषय पर बनने वाली फिल्मों में अभिनय करके अभिनेता अक्षय कुमार ने अपना एक अलग नाम बना लिया। इनमें ‘रामसेतु’, ‘मिशन मंगल’, ‘केसरी’, ‘गोल्ड’, ‘पैडमैन’, ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’, ‘नाम शबाना’, ‘रुस्तम’ और ‘स्पेशल 26’ जैसी फिल्में प्रमुख हैं। अक्षय के नक्शे कदम पर चलते हुए अभिनेत्री तापसी पन्नू पिछले कुछ वर्षों में एक थ्रिलर स्पेशलिस्ट बन गई हैं । इस कैटेगरी में ‘बदला’, ‘गेम ओवर’, ‘हसीन दिलरुबा’, ‘लूप लापेटा’ और ‘दोबारा’ जैसी फिल्में प्रमुख हैं। इस कड़ी में एक नई साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म ‘ब्लर’ 9 दिसंबर से ओटीटी प्लेटफॉर्म ज़ी5 पर स्ट्रीम होने जा रही है । अजय बहल के निर्देशन में बनी इस फिल्म का ट्रेलर लॉन्च किया गया है ।

स्पेनिश साइकोलॉजिकल थ्रिलर ‘जूलियाज आइज’ के हिंदी रीमेक ‘ब्लर’ का निर्माण जी स्टूडियोज, आउटसाइडर्स फिल्म्स और एखेलन प्रोडक्शंस के बैनर तले किया गया ह। इसमें तापसी पन्नू और गुलशन देवैया लीड रोल में हैं । फिल्म की कहानी दो जुड़वा बहनों की जिंदगी पर आधारित है, जिसमें से एक की रहस्यमयी परिस्थितियों में मौत हो जाती है। दूसरी बहन को भरोसा ही नहीं होता कि उसकी बहन खुदकुशी जैसा कदम उठा सकती है। इसलिए वो पुलिस के समानांनतर इस डेथ मिस्ट्री की जांच करने लगती है। लेकिन उसका पति बार-बार उसे ऐसा करने से रोकता है। इसके बावजूद वो रुकती नहीं है, लेकिन इन सबके बीच उसकी एक शारीरिक समस्या आड़े आ जाती है। दरअसल, जीवीत बहन को आई साइड लगातार कमजोर हो रही है। रौशनी के साथ उसे दिखाई देना बंद कर देता है। ऐसे में आतंरिक और बाहरी समस्याओं से जूझती दिख रही है।

फिल्म ‘ब्लर’ की कहानी को नैनीताल की पृष्ठभूमि पर रचा गया है। वहां गायत्री (तापसी पन्नू) और गौतमी (तापसी पन्नू) नामक दो जुड़वा बहने रहती हैं। इसी बीच एक दिन गायत्री अपनी बहन के घर जाती है, उसे आवाज देती है, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चलता। वो आवाज देते हुए अंदर के एक कमरे में पहुंचती है, तो उसका फंदे से लटकता हुआ शव पाती है। गायत्री के साथ उसका पति नील (गुलशन देवैया) भी होता है। दोनों पुलिस को सूचित करते हैं । पुलिस को प्रारंभिक जांच के बाद खुदकुशी का केस लगता है। लेकिन गायत्री को भरोसा नहीं होता। उसका पति उसे समझाता है कि चाहे जिस भी वजह से गौतमी का निधन हुआ है, उसे अब सामने आने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। वो अपनी बहन की मौत की वजहों की तलाश में लग जाती ह। तभी उसको आंखों की समस्या होती है। डॉक्टर सुझाव देता है कि आंखों का ऑपरेशन बहुत जरूरी है ।

डॉक्टर का ये भी कहना है कि यदि जल्द ऑपरेशन नहीं हुआ, तो उसकी आंखों की रौशनी कभी भी जा सकती है। इतना ही नहीं प्रकाश उसकी आंखों के लिए जहर की तरह है। अपनी व्यक्तिगत समस्या से दो चार होती गायत्री अलग-अलग लोगों से जाकर मिलती है। अपनी बहन के बारे में पूछताछ करती है। इस दौरान कोई शख्स उसका पीछा करने लगता है। इन सबसे बेपरवाह गायत्री को पता चलता है कि उसकी बहन का एक ब्वॉयफ्रेंड भी था, जिसके साथ वो सात ताल नामक जगह पर जाया करती थी। वहां लोग अक्सर एन्जॉय करने के लिए जाया करते हैं। इसी बीच गायत्री पर जानलेवा हमला होता है, लेकिन वो बच जाती है। इसके बाद उसका पति एक राज बताता है, जिसे सुनकर वो आगबबूला हो जाती है। इतनी सारी समस्याओं के बीच गायत्री क्या अपनी बहन गौतमी की मौत के रहस्य से पर्दा उठा पाएगी? इससे जानने के लिए फिल्म की रिलीज का इंतजार करना होगा।

फिल्म ‘ब्लर’ का ट्रेलर इसके टीजर से लाख गुना बेहतर है। कम से कम इसे देखने के बाद मन में ये कौतूहल तो पैदा हो ही रहा है कि गौतमी की हत्या किसने की है? कहीं उसकी हत्या में गायत्री के पति नील का हाथ तो नहीं है? ऐसी कहानियां वैसे हमने पहले भी कई बार देखी हैं, लेकिन इस फिल्म में इसे किस तरह से पेश किया गया है, उस पर निर्भर करता है कि फिल्म कैसी होगी। फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर और डायलॉग अच्छा है। ”हर शहर की हर सड़क पर हजारों लोग हैं, जो किसी को याद नहीं रहते”, ”आंखे बंद करके लोगों को देखों तो वो बहुत बेहतर नजर आते हैं” और ”अंधेरा बहुत जरूरी है” जैसे डायलॉग सोचने पर मजबूर करते हैं। इसके लिए पवन सोनी और अजय बहल बधाई के पात्र है। बैकग्राउंड स्कोर केतन सोधा है, जिन्होंने हर परिस्थिति के अनुसार बेहतर रचना की है । केतन इससे पहले ‘द ग्रेड इंडियन मर्डर’ और ‘द फैमिली मैन’ में बैकग्राउंड स्कोर दे चुके हैं ।

अपनी होम प्रोडक्शन में बनने वाली पहली फिल्म के बारे में तापसी पन्नू कहती हैं, “फिल्म ब्लर एक व्यक्ति की विभिन्न संवेदनाओं को एक साथ समाहित करती हैं।

यही कारण है कि मैंने इसे अपनी पहली फिल्म के रूप में बनाने का फैसला किया। निर्माता की भूमिका निभाना एक शानदार अनुभव रहा है। अभिनेत्री के अलावा मैं फिल्म निर्माण के उन रचनात्मक चीजों का हिस्सा बनना चाहती थी, जो शायद ही कभी ग्लैमराइज़ होते हैं, लेकिन फिल्म निर्माण के लिए बहुत जरूरी होते हैं। अपनी बहन की मौत के कारण मानसिक संतुलन खो चुकी एक महिला का किरदार निभाना मेरे लिए चुनौतीपूर्ण था।” गुलशन देवैया का कहना है, “ब्लर एक ऐसी फिल्म है, जिसमें ट्विस्ट, टर्न और टेंशन से भरा प्लॉट है, जो सस्पेंस पैदा करता है, जो आपको इस उम्मीद में स्क्रीन से जोड़े रखेगा कि आगे क्या होने वाला है। ‘दुरंगा’ के बाद जी5 के साथ मेरा ये दूसरा प्रोजेक्ट है। मैं उनके साथ इस सफल जुड़ाव को जारी रखना चाहता हूं। अपने किरदार के बारे में कुछ भी बताए बिना, मैं दर्शकों से इस रोमांचक और दिल दहला देने वाले थ्रिलर के लिए तैयार रहने के लिए कहना चाहूंगा।”

बेहतरीन फिल्मे और वेबसेरिस को देखने के लिए भारत का पहला वर्चुअल सिनेमा दिव्या दृष्टि प्लेयर डाउनलोड करे। और बेहतरीन फिल्म और वेबसेरिस का घर बैठे अपने परिवार के साथ आनंद उठाए । दिए हुए लिंक पर क्लिक कर

https://play.google.com/store/apps/details

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
100 %
Scroll to Top