“कंट्री माफिया” -रवि किशन की दमदार अदाकारी पर टिकी उम्दा वेब सीरीज…!

Views: 573
0 0
Read Time:7 Minute, 4 Second

यूपी और बिहार की पृष्ठभूमि पर बनने वाली ज्यादातर वेब सीरीज वहां के अपराध जगत पर आधारित रही हैं। चाहे आपसी रंजिश में होने वाली खूनी वारदात हो या फिर अपनी धाक और रसूख जमाकर कारोबार, यहां की धरती में अनाज नहीं बंदूकें उगाई जाती रही हैं। यहां बड़ी संख्या में बाहुबली और माफिया डॉन हुए हैं। मुख्तार अंसारी से लेकर मोहम्मद शहाबुद्दीन तक अनेकों ऐसे नाम है, जिनती जरायम की दुनिया में तूती बोलती थी। इनकी कहानियों से ही प्रेरित होकर ‘मिर्जापुर’, ‘रक्तांचल’, ‘रंगबाज’, ‘अपहरण’ और ‘असुर’ जैसी वेब सीरीज का निर्माण हुआ है। इनको लोगों ने पसंद भी खूब किया है। इस कड़ी में एक नई वेब सीरीज ‘कंट्री माफिया’ जी5 पर स्ट्रीम हुई है। शशांक राय के निर्देशन में बनी इस सीरीज में रवि किशन, आयुष्मान पुष्कर, सतीश कौशिक, अनिता राज और सौंदर्या शर्मा लीड रोल में हैं।

वेब सीरीज ‘कंट्री माफिया’ की कहानी संजय मासूम, मिथिलेश कुमार सिंह, संगम शुक्ला, अब्दुल कादिर और शशांक राय ने लिखी है। इतनी लंबी-चौड़ी लेखन टीम को देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि मेकर्स का कहानी पर कितना ज्यादा फोकस है। शायद यही वजह है कि इसकी कहानी रोचक और रोमांचक बन पड़ी है। वैसे भी किसी भी सिनेमा या सीरीज की जान उसकी कहानी ही होती है। ये बात बॉलीवुड के मेकर्स भूल गए हैं। लेकिन साउथ सिनेमा और ओटीटी की बंपर सफलता ने बता दिया कि कंटेंट ही किंग है। कंटेंट पर ध्यान दिए बिना केवल सितारों के सहारे फिल्म या वेब सीरीज को हिट नहीं कराया जा सकता। यदि कंटेंट में दम है तो अपरचित कलाकार भी रातों-रात सितारा बन सकता है। गुमनामी के अंधेरे में जी रहे पंकज त्रिपाठी, मनोज बाजेपयी और नवाजुद्दीन इसके प्रमुख उदाहरण हैं।

‘कंट्री माफिया’ की कहानी एक भाई-बहन के ईर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए अपने इलाके के सबसे खौफनाक माफिया डॉन से लड़ जाते हैं। अजय (आयुष्मान पुष्कर) और नन्नू (सौंदर्या शर्मा) यूपीएससी की तैयारी कर रहे होते हैं। उनका सपना है कि वो आईपीएस बनकर देश और समाज का सेवा करें। उसके पिता अवैध शराब का कारोबार करते हैं। परिवार हंसी-खुशी जी रहा है। इसी बीच इलाके का माफिया डॉन बब्बन राय (रवि किशन) अजय की पिता की हत्या करवा देता है। उसके घर पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ता है, लेकिन उसकी मां ममता (अनिता राज) अपने पति की मौत का बदला लेने के लिए अपने दोनों बच्चों को उकसाती है। अजय और नन्नू से कहती है कि वो राजपूत के बच्चे हैं। उनको अपने पिता का बदला लेना चाहिए। बब्बन राय का साम्राज्य खत्म कर देना चाहिए।

मां के कहने पर अजय और नन्नू अपने पति के कातिल से बदला लेने के लिए निकल पड़ते हैं। सबसे पहले वो उस शख्स की बर्बर हत्या करते हैं, जिसने उसके पिता को मारा है , घर आते हैं, तो मां कहती है, ”कुत्ते का उमर 12 साल, सियार का उमर 13 साल, राजपूत के बच्चे का उमर 30 साल अब पीछे का रस्ता बंद हो चुका है बस आगे बढ़ना है। मारते हुए मिट्टी का तेल बाहर रखा है, खून धो लो। ” इसके बाद दोनों एक लोकल अपराधी से हाथ मिलाते हैं, जो कभी उसके पिता का पार्टनर रह चुका है। तीनों मिलकर अवैध शराब का कारोबार दोबारा शुरू करते हैं, ताकि बब्बन के बिजनेस को नुकसान पहुंचाया जा सके। उनका धंधा निकल पड़ता है। इधर बब्बन उसके खिलाफ जांच कर रहे एक पुलिस अफसर का गला काट देता है। वो महंत (सतिश कौशिक) के संरक्षण में अपने बाहुबल को कायम रखता है। लेकिन अजय और नन्नू उसका जोरदार मुकाबला करते हैं। यहां तक कि बब्बन बौखला जाता है। क्या भाई-बहन अपने पिता की मौत का बदला ले पाते हैं, जानने के लिए वेब सीरीज देखनी होगी।

किसी वेब सीरीज की सफलता मुख्य रूप से तीन बातों पर टिकी होती है। कहानी, निर्देशन और अभिनय. इन तीनों कसौटी पर ‘कंट्री माफिया’ खरी उतरती है। फिल्म की कहानी के बारे में पहले ही बताया जा चुका है। जहां तक निर्देशन की बात है, तो शशांक राय की मेहनत हर जगह नजर आती है। शशांक को भोजपुरी फिल्म ‘शेर सिंह’ के निर्देशन के लिए जाना जाता है। उनकी भोजपुरी की समझ का असर देखने को मिल रहा है। सीरीज की पृष्ठभूमि यूपी-बिहार की सीमा पर स्थित है, इसलिए किरदारों के ज्यादातर संवाद भोजपुरी में या उससे मिलते-जुलते रखे गए हैं। सही मायने में भोजपुरी भाषी दर्शकों को रिझाने का ये प्रयास सफल दिख रहा है। इसके अलावा इस सीरीज में कई सीन ऐसे दिखाए गए हैं, जो पहले कभी नहीं देख गए। जैसे कि किसी शख्स का पूरा शरीर मिट्टी दबाकर उसका गला बाहर रखना और उसे कलम कर देना।

बेहतरीन फिल्मे और वेबसेरिस को देखने के लिए भारत का पहला वर्चुअल सिनेमा दिव्या दृष्टि प्लेयर डाउनलोड करे। और बेहतरीन फिल्म और वेबसेरिस का घर बैठे अपने परिवार के साथ आनंद उठाए । दिए हुए लिंक पर क्लिक करे

https://play.google.com/store/apps/details?id=net.digital.divyadrishtiplayer

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Scroll to Top